Search

उपवास, व्रत


आज से नवरात्रे शुरू हो रहे हैं ,ज़्यादातर लोग इन 9 दिनों में उपवास या व्रत रखते हैं,अन्न का त्याग करते हैं,उपवास का संस्क्रत में अर्थ है उप मतलब पास ,वास मतलब बैठना ,अथार्त परमात्मा के पास बैठना,व्रत का मतलब कोई प्रण लेना,।

नवरात्रों में उपवास या व्रत करने का साइंटफिक रीजन है ,कि इनदिनो मौसम का बदलाव होता है अतः पाचनक्रिया सुस्त हो जाती है ,गर्मियों की सब्जियों और फलों का उतार आरहा होता है ,और सर्दियों के फल सब्जियां आने लगते है,। मौसम के बदलाव में स्वस्थ रहने के लिए एक वक्त खाना, फलाहार,व्रत,उपवास कारगर है।दोनों ही नवरात्रे मौसम के चेंज होते समय आते हैं।

बर्षा ऋतु के बाद घर मे सीलन के कारण बहुत से कीड़े,और बदलते मौसम में जो नए नए प्रकार के कीटाणु हो जाते हैं,उनको खत्म करने के लिए इनदिनों हवन किया जाता है।

हवन करने से घर मे शुद्धि होती है और अग्नि स्नान भी होता है।


डॉ दीपाली अग्रवाल

सुजोक थेरेपिस्ट, नेचुरोपैथ

9887149904

6 views0 comments

Recent Posts

See All